प्रेम एक कला है

कहते हैं प्रेम एक कला है,
शायद सच कहते हैं,
क्योंकि कभी-कभी,
हम कहानियां नहीं चुनते,
बल्कि वो ही हमें चुन लेती हैं।

और अगर हम उनका इशारा ना समझ सकें,
कि हमें लिखो, कहो या फिर सुनो,

तो वह तब तक हमारे,
दिल दिमाग और सपने में,
दस्तक देते रहते हैं जब तक,
उन्हें पन्ने पर उतार ना लो,
उन निराकार कल्पना को,
लकीरों में खींच ना लो,
उनको सुरों में पिरो ना लो,

किसी की आँखों से बहने के लिये,
किसी की मुस्कान,
बनने के लिए,

कहते हैं कि प्रेम सबके नसीब में नहीं होता,
कि जो भगवान के हाथों भाग्य लिख के आया है,
बस वही प्रेम का भागी बन पाया है,

पर मैं कहती हूँ प्रेम भी हमें चुन लेता है,
उसकी दस्तक पर दरवाजा खोलना भूल गए,
तो ढूढ़ लेते हैं कोई न कोई तरीका,
खुद को महसूस कराने का,
हवा बन के अपना एहसास कराने का,
कोई न कोई तरीका,
हमारे जीवन में आने का,

तो जब कोई कहता हैं ना कि,
प्रेम हर किसी के लिए नहीं होता,
मैं कह देती हूँ,
खिड़की दरवाजे खुले रखिये,
और अगर ना भी रख सके तो कोई बात नहीं,
प्रेम के लिए एक सुराख ही काफी होगी,
तुम्हारे अंधेरे कोनों में,
रोशिनी भरने के लिये,
प्रेम हर किसी का होता है,
इससे भागना ब्यर्थ है,
बेहतर है,
इसके लिये तैयार रहें,
अपने दिल और दिमाग की,
सारी खिड़की दरवाजे खोल के……

22 thoughts on “प्रेम एक कला है

  1. Too nice… But you know what when you love someone with whole hearted and he leaves you.. You start hating love.. and that’s the time we close all our windows of emotion for love..

    Like

  2. I hope you don’t mind but I used a translator to read this in English. Assuming the translation is correct, I have to agree that we must be open to love. Even translated your words are beautiful.

    Liked by 1 person

    1. That’s so sweet of you for making an effort to read my words, humbled.
      Yes, you got it right, we must be open for love free of judgements and without giving in much thoughts to how when.

      Liked by 1 person

  3. बहुत ही लाजवाब लेख है ये , प्रेम के बारे में इससे बेहतर नहीं लिखा जा सकता ❤️❤️ ( TYPED IN HINDI FOR THE FIRST TIME 😅)

    Liked by 2 people

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s